Jai Mahakal Status

ॐ त्र्यम्बकं स्यजा महे

सुगन्धिम्पुष्टिवर्द्धनम्‌।

उर्व्वारूकमिव बंधनान्नमृत्योर्म्मुक्षीयमामृतात्‌॥

Mahakal status


जो समय की चाल हैं

अपने भक्तों की ढाल हैं

पल में बदल दे सृष्टि को,

वो महाकाल हैं॥

Jai Mahakal status

`

ॐ मृत्युंजय महादेव त्राहिमां शरणागतम

जन्म मृत्यु जरा व्याधि पीड़ितं कर्म बंधनः

Jai Mahakal Status in hindi


कर-चरणकृतं वाक्कायजं कर्मजं वा

श्रवणनयनजं वा मानसं वापराधम

विहितमविहितं वा सर्वमेतत्क्षमस्व

जय-जय करुणाब्धे, श्री महादेव शम्भो॥

jai mahakal status in hindi


झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे

वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे॥

jai mahakal status


किसी ने मुझसे कहा

इतने ख़ूबसूरत नहीं हो तुम

मैंने कहा महाकाल के भक्त

खूंखार ही अच्छे लगते हैं॥

Jai Mahakal Status

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम

उर्वारुकमिव बन्धनान मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

jai mahakal status in hindi

ॐ तत्पुरुषाय विदमहे

महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।

Jai Mahakal status for whatsapp


नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय

नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:॥

Jai mahakal status


अवन्तिकायां विहितावतारं मुक्तिप्रदानाय च सज्जनानाम्।

अकालमृत्यो: परिरक्षणार्थं वन्दे महाकालमहासुरेशम्।।

mahakal status for whatsapp


राम उसका रावण भी उसका,
जीवन उसका मरण भी उसका,
ताण्डव है और ध्यान भी वो है,
अज्ञानी का ज्ञान भी वो है ।

jai mahakal status


हैसियत मेरी छोटी है पर,
मन मेरा शिवाला है ।
करम तो मैं करता जाऊँ,
क्योंकि साथ मेरे डमरूवाला है ।


जिनके रोम-रोम में शिव है,
वहीं विष पिया करते हैं,
जमाना उन्हें क्या जलायेंगा,
जो श्रृंगार ही अंगार से करते है ।

jai mahakal status in hindi


महाकाल तेरे भक्तों की जिंदगी निराली है..!
हमारे लिए तो हर दिन होली और
हर चांदनी रात दिवाली है!!
#जय महाकाल

jai mahakal status in hindi


महाकाल तेरे भक्तों की जिंदगी निराली है..!
हमारे लिए तो हर दिन होली और
हर चांदनी रात दिवाली है!!
#जय महाकाल

jai mahakal status


गरज उठे गगन सारा,
समंदर छोड़े अपना किनारा,
हिल जाये जहान सारा,
जब गूंजे महाकाल का नारा।


गांजे मे गंगा बसी,
चीलम में चार धाम,
कंकर मे शंकर बसे,
और जग में महाकाल।।


वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं,
ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते हैं।


झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे,
वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे।


ना मैं उच नीच में रहूँ
ना ही जात पात में रहूँ,
महाकाल आप मेरे दिल में रहे,
और मैं औक़ात में रहूँ।


सारा ब्राम्हॉंन्ड झुकता हैं जिसके शरण में,
मेरा प्रणाम हैं उन महाकाल के चरण में।


काल का भी उस पर क्या आघात हो,
जिस बंदे पर महाकाल का हाथ हो।


तिलक धारी सब पे भारी,
जय श्री महाकाल पहचान हमारी।


नही पता कौन हूँ मैं
और कहा मुझे जाना हैं,
महादेव ही मेरी मँजिल हैं
और महाकाल का दर ही मेरा ठिकाना हैं।


जैसे हनुमानजी के सीने में
तुमको सियापति श्री राम मिलेंगे
सीना चीर के देखो मेरा तुमको
बाबा महाकाल मिलेंगे।


जैसे हनुमानजी के सीने में
तुमको सियापति श्री राम मिलेंगे
सीना चीर के देखो मेरा
तुमको बाबा महाकाल मिलेंगे।


आँधी तूफान से वो डरते हैं,
जिनके मन में प्राण बसते हैं,
वो मौत देखकर भी हँसते हैं,
जिनके मन में महाकाल बसते हैं।


खौफ फैला देना नाम का,
कोई पुछे तो कह देना,
भक्त लौट आया हैं महाकाल का।


इतना ना सजा करो मेरे महाकाल
आपको नज़र लग जायेगी
और उस मिर्ची की क्या औकात
जो आपकी नज़र उतार पाएगी।


भागना मत मौत से
एक एहसान चढ़ा देगी
जीवन के बाद म्रत्यु तुझे
महादेव से मिला देगी ।।


खुल चुका हैं नेत्र तीसरा,
शिव शंभू त्रिकाल का,
इस कलयुग में वो ही बचेगा,
जो भक्त हो महाकाल का।


हिन्दूगिरी के बादशाह हैं
हम तलवार हमारी रानी हैं
दादागिरी तो करते ही हैं,
बाकी महाकाल की मेहरबानी हैं।


ना पूछो मुझसे मेरी पहचान,
मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार,
मैं उस महाकाल का पुजारी हूँ।


ये कैसी घटा छाई हैं,
हवा में नई सुर्खी आई हैं,
फैली हैं जो सुगंध हवा में,
जरूर महादेव ने चिलम जलाई हैं।


चिता भस्म से तेरा
नित नित हो श्रृंगार,
काल भी तेरे आगे हाथ
जोड़ खड़ा लाचार।


कुत्तो की बढी तादाद
से शेर मरा नही करते,
और महाकाल के दिवाने किसी
के बाप से ड़रा नही करते।


हम ‎महादेव‬ के दीवाने हैं
तान के सीना‬ चलते हैं,
ये महादेव का जंगल हैं,
यहाँ शेर महाकाल‬ के पलते हैं।


भांग से सजी हैं सूरत तेरी,
करू कैसे इसका गुणगान,
जब हो जायेगी आँखे मेरी
भी लाल तभी दिखेगे महाकाल।


मैं झुक नही सकता,
मैं शौर्य का अखँड भाग हूँ,
जला दे जो अधर्म की रुह को,
मैं वही महादेव का दास हूँ।


सबसे बड़ा तेरा दरबार हैं,
तू ही सब का पालनहार हैं
सजा दे या माफी महादेव,
तू ही हमारी सरकार हैं।


राजनीति नही,
दिलो पर राज करने की इच्छा हैं,
यही मेरे गुरू बाबा महाकाल की शिक्षा हैं।


जब सुकून नही मिलता
दिखावे की बस्ती में,
तब खो जाता हूँ
मेरे महाकाल की मस्ती में।


माया को चाहने
वाला बिखर जाता हैं,
और महाकाल को चाहने वाला
निखर जाता हैं।


दिखावे की मोहब्बत से दूर रहता हूँ
इसलिये मैं महाकाल के नशे में चूर रहता हूँ।

Leave a Comment